कैसे अपने ही नवजात बच्चे के साथ की यह क्रूरता!

0
109

माँ और बच्चे का रिश्ता 

एक माँ और उसका उससे बच्चे से रिश्ता सिर्फ ख़ास ही नहीं बल्कि अनोखा भी होता है| कैसे बच्चे के बिना बोले माँ का सब समझ जाना, और उसका हल भी निकाल देना|screenshot_186

loading...
कैसे बच्चे की हल्की सी भी तकलीफ का माँ का यूँ ही समझ जाना| यूँ तो हम सब इस बात से वाकिफ ही हैं कैसे एक माँ अपने बच्चे के लिए कुछ भी कर गुज़रने को तैयार होती है लेकिन ज़रा सोचिये क्या हो जब यह जीवन देने वाली माँ ही बच्चे की जान लेने पर अमादा हो जाये तो?screenshot_187

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY