दुर्घटना में आधा चेहरा खोने के बाद भी नहीं मानी हार, इनकी कहानी है एक मिसाल

27

दुनिया में विज्ञानं और प्रकर्ति इस ऐसी तो चीज़े है जिसे इंसान को चकित कर के रखा हुआ है।विज्ञान ने इंसान को एक ऐसा तोफा दिया है। जो की कई हज़ारो साल पहले इंसान ने सोचा भी नही होगा। विज्ञान ने इंसान की पूरी जिंदगी ही बदल दी है। विज्ञान एक ऐसा तोफा मिला है जो की इंसान की पूरी लाइफ ही बदल कर रख  देता है।  हमारे दैनिक जीवन में हमें ऐसे कई तोहफे मिले हैं जिनके लिए हमे विज्ञान का शुक्रगुज़ार होना चाहिए।विज्ञान का एक ऐसा ही तोफा मिला  ‘रिचर्ड नोरिस’ को भी। जिसने ‘रिचर्ड नोरिस’ की पूरी लाइफ ही बदल कर रख दी। एक दुर्घटना में रिचर्ड नोरिस’ ने अपना पूरा  चेहरा खोने के बाद  रिचर्ड  ने अपनी सारी उम्मीदों से भी हार मान  ली थी। लेकिन फिर मेडिकल साइंस उनके जीवन में एक वरदान की तरह साबित हुआ । आइये जानते है ‘रिचर्ड नोरिस’ की पूरी कहानी की क्या हुआ था उनके साथ और कैसे चिकित्सा विज्ञान की बदौलत उन्हें एक नया चेहरा और नयी उम्मीद मिली।

22 साल की उम्र में रिचर्ड के साथ हुआ यह हादसा

रिचर्ड नशे में थे और अपनी माँ के साथ लड़ रहे थे। और खुद को ख़तम करने की धमकी दे रहे थी की जो शॉट गैन उनके हाथ में थी वो चल गई। और उनके चेहरे पर जा लगी। और बस देखते ही देखते सब कुछ ख़तम सा हो गया।

loading...

इस हादसे में रिचर्ड नोरिस ने अपने लुक के साथ ही अपने दांत, नाक, जीभ का कुछ हिस्सा और जबड़ा भी खो दिया

इस हादसे के बाद रिचर्ड नोरिस के अपनी लुक के साथ साथ अपने जीवन का सब कुछ खो दिया था यह तक की उनका पूरा जबड़ा ही ख़तम हो गया था। नशे में गयी गलती का उन्हें बाद में एहसाश हुआ की उसने किया कर दिया है ।